कुछ लोग इसे पत्थर समझते थे , मगर ये तो ….| विज्ञानिक के भी पसीने छुटगए है

कुछ लोग इसे पत्थर समझते थे, समंदर से बहकर किनारे पर आयी इस चीज को स्थानीय आदिवासी पत्थर समझ रहे थे, लेकिन क्या सच में ये पत्थर थे आपने बहोत सी अजीबो गरीब जगहों के बारे में सुना होगा, आपने बहोत सी अजीबो गरीब चीजे भी देखि होंगी, लेकिन क्या आपने कभी ऐसी चीज देखि है जो दिखने पत्थर जैसी और अन्दर से जीवित.
हां दोस्तों, अर्जेंटीना नामक देश में कुछ आदिवासी लोगो को एक जगह पर पत्थर जैसी कुछ चीजे दिखाई दी, और उनके लिए वह चीजे पत्थर ही थी, उन्होंने उसपर कभी हौर नहीं किया. वो उसे पत्थर ही मानते थे. लेकिन असलियत में पत्थर ही थे या और कुछ.जब कुछ लोग ऐसे ही घुमने के लिए उस जगह पर गए, साथ में कैमरा लेके भी वो गए थे, उनको तस्वीरे निकालने का काफी शोक था. इसीलिए वो उस जगह प्र गए आदिवासियों से मिले और उन्हों उस जगह पर आदिवासियोक को मदत की और उनके साथ अनेक फोटो भी निकाली.

एक दो दिन रुकने के बाद वो लोग जब वापस अपने घर गए, और सोशल मीडिया पर वो फोटो पोस्ट की, तब उनके कॉलेज के एक प्रोफेसर ने वो फोटो देखि, देखते ही उस प्रोफेसर के पसीने छुट गए, वो हैरान होगया, ये कैसे मुमकिन है, ऐसा तो हो ही नहीं सकता. आखिर क्या देखा उस प्रोफेसर ने उस फोटो में.उस प्रोफेसर ने उन स्टूडेंट्स को बुलाकर पूछा की ये फोटो कहासे निकली तुम लोगो ने, बच्चे भी चौंक गए अचानक प्रोफेसर हमें ऐसा क्यूं पूछ रहे है, हमने कुछ गलत तो नहीं किया न.

उन बच्चो ने घबराकर उस जगह के बारे में प्रोफेसर को बता दिया, उसके बाद वो प्रोफेसर अपनी टीम लेकर उस जगह पर गया तो देखा तो वो पत्थर उस जगह पर नहीं थे, जैसे अचानक समंदर उन्हें निगल गया हो, वो पत्थर अचानक कहा गायब होगये. लेकिन उस प्रोफेसर को उस जगह पर एक टूटी हुयी शेल मिली जो की उसी पत्थर की बची हुयी थी.
प्रोफेसर ने जब उस की जांच की तो पता चला की ये बहोत ही प्राचीन प्रजाति के किसी जानवर का अंडा है, शायद डायनासोर या फिर उससे भी बड़े किसी दानव का. लेकिन प्रोफेसर को बहोत निराशा हुयी, की शायद वो कुछ दिन पहले उस जगह पर आजाता और जान पाटा की वह असलियत में क्या है.आज तक यह बात एक राज की राज बनी हुयी है

One thought on “कुछ लोग इसे पत्थर समझते थे , मगर ये तो ….| विज्ञानिक के भी पसीने छुटगए है

  1. hey there and thank you for your information – I have certainly picked up anything new from right here. I did however expertise several technical points using this website, since I experienced to reload the web site many times previous to I could get it to load correctly. I had been wondering if your web host is OK? Not that I’m complaining, but sluggish loading instances times will sometimes affect your placement in google and can damage your high quality score if advertising and marketing with Adwords. Well I am adding this RSS to my email and can look out for much more of your respective exciting content. Make sure you update this again soon..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

Salman Khan को Kapil Sharma से ज्यादा मजेदार Sunil Grover लगे

Wed Jun 14 , 2017
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email

Breaking News

Translate »